Mundru PHC gets first place in Sikar district


mundru phc gets first place in sikar district, mundru phc ranking, mundru primary health center, mundru primary health center ranking, mundru phc certified now, mundru shrimadhopur, mundru sikar

mundru phc gets first place in sikar district

मूंडरू पीएचसी का सीकर जिले में पहला स्थान


सीकर जिले के श्रीमाधोपुर के मूंडरू गांव‎ का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र राष्ट्रीय‎ स्तर के मानकों पर खरा उतरा है‎ और राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन‎ कार्यक्रम में सर्टिफाईड हुआ है।‎

कार्यक्रम के जिला नोडल अधिकारी एडिशनल सीएमएचओं डॉ. हर्षल‎ चौधरी ने बताया कि सीएमएचओ‎ डॉ. अजय चौधरी के निर्देशन में की‎ गई तैयारियों के तहत पीएचसी मूंडरू‎ राष्ट्रीय स्तर के मानकों पर खरा उतर‎ पाया है।

इस संस्थान का भारत‎ सरकार की टीम ने 17 एवं 18‎ दिसंबर को व्यवस्थाओं का निरीक्षण‎ किया था। मूंडरू पीएचसी जिले का‎ पहला पीएचसी स्तर पर का संस्थान‎ है, जो राष्ट्रीय स्तर के मानकों में‎ 81.60 प्रतिशत अंक प्राप्त कर खरा‎ उतरा है।‎


एडिशनल सीएमएचओ डॉ. हर्षल‎ चौधरी ने बताया कि भारत सरकार‎ के सदस्यों टीम ने अस्पताल के‎ ओपीडी, आईपीडी, लेबर रूम,‎ राष्ट्रीय हेल्थ कार्यक्रम, लेबोरेट्री,‎ जनरल एडमिनिस्ट्रेशन सहित सभी‎ कार्यों का राष्ट्रीय स्तर पर बनाए गए‎ मानकों के हिसाब से निरीक्षण किया।‎

टीम ने संस्थान पर कार्यरत‎ चिकित्सक, मेल नर्स एएनएम व‎ स्वास्थ्य कर्मियों के कार्य करने के‎ तरीके व इससे संबंधित सभी‎ दस्तावेज, लोगों को दी जा रही‎ गुणवत्तापूर्ण सेवाएं व सुविधाएं और‎ उन्हें लेकर आमजन की संतुष्टि से‎ संबंधित सभी कार्यों को जांच की।‎

ब्लॉक सीएमओं डॉ. जेपी सैनी के‎ अनुसार केंद्र के चिकित्सा अधिकारी‎ प्रभारी डॉ. मुकेश चौधरी, खंड‎ प्रोग्रामर मैनेजर गोविंद शर्मा एवं‎ समस्त पीएचसी के स्टाफ को उनके‎ उत्कृष्ट कार्य को ये सम्मान मिला है।‎

इस कार्य में एसके अस्पताल की‎ नोडल अधिकारी डॉ. किरण नागपाल‎ एवं क्वालिटी को-ऑर्डिनेटर नरेश‎ लामोरिया का सहयोग भी रहा।‎

प्रोत्साहन राशि के रूप में‎ मिलेंगे तीन लाख रुपए‎ एडिशन सीएमएचओ डॉ. हर्षल‎ चौधरी ने बताया कि कार्यक्रम में‎ सर्टिफाइड होने पर पीएचसी को‎ प्रोत्साहन राशि के तौर पर तीन‎ लाख रुपए तीन साल तक मिलेंगे।‎

उन्होंने बताया कि पीएचसी को‎ राष्ट्रीय स्तर के मानकों के अनुरूप‎ तैयार करवाने में जिला दक्षता मेंटर‎ डॉ. सावित्री भामू ने भी काफी‎ मेहनत की।

उन्होंने संस्थान को‎ कार्यक्रम में सर्टिफाइड करवाने के‎ लिए बनाई गई चैक लिस्ट के‎ अनुसार लेबर रूम, ओपीडी,‎ आईपीडी, लैब, जनरल‎ एडमिनिस्ट्रेशन सहित सभी स्तर‎ पर संस्थान को तैयार करवाया।‎

Source - Dainik Bhaskar
Link - https://epaper.bhaskar.com/detail/911993/923001401764/rajasthan/22012022/425/image/